MP में गौमूत्र फिनाइल से साफ किए जाएंगे दफ्तर, लोगों के रीऐक्शन देख छूट जाएगी हंसी

गौमूत्र अक्सर चर्चा में रहता है अभी किसी दवाई को लेकर, तो कभी किसी विरोध को लेकर। गर कोई आपने हिसाब से गौमूत्र का इस्तेमाल करता है। कोई कहता है ये हर मर्ज की दवा है तो कई लोग इसे कुछ नहीं मानते है। लेकिन मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार हरदम गाय से जुड़े अनोखे फैसले लेती रहती है कभी गो कैबिनेट तो कभी कोई अन्य कानून लाकर। लेकिन इस बार मध्य प्रदेश की सरकार ने एक ऐसा आदेश दिया है, जिसके बाद से सोशल मीडिया पर लोग मप्र सरकार को जमकर ट्रोल कर रहे हैं।

क्या है मामला?मध्य प्रदेश सरकार ने एक आदेश दिया है कि सभी सरकारी दफ्तरों की सफाई सिर्फ गौमूत्र से बने फिनाइल से ही कराई जाए। राज्य के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट ने आदेश में कहा था कि सभी सरकारी दफ्तरों में अब केमिकल वाले फिनाइल से सफाई नहीं कराई जाएगी, बल्कि अब इसकी जगह गौमूत्र से बने फिनाइल से सफाई होगी।

मंत्री ने क्या कहा?पशु पालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि ये कदम इसलिए उठाया गया है ताकि लोगों को गौमूत्र फिनाइल की फैक्ट्रियां लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सका। हमने प्रोडक्शन से पहले ही गौमूत्र फिनाइल की मांग बढ़ाने का काम किया है। अब लोग दूध देना बंद कर देने के बाद भी गायों को सड़क पर घूमने के लिए नहीं छोड़ेंगे। इससे मध्य प्रदेश में गायों की स्थिती बेहतर होगी।

लोगों ने क्या कहा?शिवराज सरकार के इस आदेश के बाद सोशल मीडिया दो गुटों में बट गया एक जो इसका समर्थन कर रहे है और दूसरे वो जो इसका जमकर विरोध कर रहे है। वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने तो ट्वीट कर मध्य प्रदेश सरकार को गौमूत्र सरकार तक कह डाला है। कुछ लोगों का कहना है कि सरकार के इस गौमूत्र फिनाइल के आदेश के बारे में जानकर सबसे ज्यादा खुशी बाबा रामदेव को ही हुई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *