साल बदल रहा है, साली और घरवाली नहीं…

ज्यादा उड़ो मत, साल बदला है

साला-साली और घरवाली नहीं

पकंज, करण विहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *