रात भर खोजने पर नहीं मिला दुल्‍हन का घर, नराज फूफा के साथ लौटी बारात !

कोरोना काल में हमने अपने देश में ही नहीं पूरे विश्व में अलग-अलग क़िस्म की शादियां देखी है जिसने सबको हैरत में भी डाला। लेकिन उत्तर प्रदेश के मऊ ज़िले से एकदम अलग मामला सामने आया है। मऊ में बारात लेकर शादी करने गए दूल्हे के साथ एक ऐसी घटना घटी जो पूरे ज़िले में चर्चा का विषय ही नहीं बल्कि अख़बारों की हेडलाइन बन गई।

क्या है मामला ?
दरअसल, दूसरी शादी करने के लिए बारात लेकर गए दूल्हे की बारात इसलिए लौट गई क्योंकि उसे दुल्हन का घर ही नहीं मिला। जब ऐसा हुआ तो आक्रोशित बारातियों ने शादी की अगुवाई कर रही महिला को भी बंधक बना लिया क्योंकि बंधक बनाई गई महिला के माध्यम से ही कांशीराम कॉलोनी निवासी शख़्स की दूसरी शादी मऊ ज़िले में तय हुई थी।

पीड़ित पक्ष के अनुसार, उन्होंने बैंड बाजा और आतिशबाजी के लिए बिसाती को देने के लिए रुपए भी दिए थे। साथ ही उन्होंने लड़की वालों को भी रुपए दिए थे। लिहाज़ा जब बारात पहुंची तो तय स्थान पर बैंड बाजा का इंतेज़ार किया, नहीं मिलने पर दुल्हन के घर की पूछताछ की, लेकिन लोगों ने अनभिज्ञता जताई जिससे सबके होश उड़ गए। रात भर पूरी बारात संबंधित क्षेत्र में बराती दुल्‍हन का घर खोजती रही लेकिन घर और मंडप का कहीं दूर-दूर तक पता नहीं चला तो थकहार कर दूल्‍‍‍‍हा और बराती रात में ही अपने घर वापस आ गए।

पुलिस ने क्या किया ?
जैसे ही पुलिस को सूचना मिली पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले आई और पूछताछ के साथ कार्रवाई का भरोसा दिया, लेकिन कोई पक्ष लिखित कार्रवाई के लिए तैयार नहीं हुआ तो सभी को आखिरकार छोड़ दिया गया। शहर कोतवाल के के गुप्ता के अनुसार, दोनों मध्‍यस्‍थता करने वाली महिला और दूल्‍हा पक्ष ने कुछ देर बाद समझौता कर लिया और अपने-अपने घर चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *