बहू ने जलाई सास की साड़ी

बहू – मैं आपकी लाल वाली साड़ी प्रेस कर रही थी,
तो साड़ी एक जगह थोड़ी सी जल गई

सास – कोई बात नहीं, मेरे पास वैसी ही एक और
लाल साड़ी है।

बहू- मुझे मालूम था, इसलिए उस साड़ी का उतना कपड़ा काटकर,
मैने इस जली हुई साड़ी में जोड़ दिया।

रूपिका, अगर नगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *