दमाद ने सास से कही मजेदार बात

दमाद– आज से मैं रोटी नहीं चावल खाऊंगा।

सास – ऐसा क्यों?

दमाद – मोहल्ले वालों के ताने सुनकर थक गया हूं।
रोज कहते हैं कि ससुराल वालों की रोटी तोड़ता हूं।

उमेश, बलिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *